Ehsaas – एहसास

सर्द सा मौसम, बारिश की बूँदें, शीशे पर जमा वो ओस का पानी, मिट्टी की ख़ुशबू फूलों की महक, डाली पर फुदकते पंछियों की चहक बरामदे में बैठे संग हम और तुम अदरक के चाय की प्याली में गुम नज़रों से नज़र यू खुलके बोलें इतनी बातें हो गईं दिल से बिना लबों को खोले ! – सोनाली बक्क्षी २८/०९/२०२० Continue reading Ehsaas – एहसास