🌟 जगमगाती दिवाली 🌟

जगमगाया था माहौल, रंगीन था बाज़ार, उम्मीद भरी मुस्कान चेहरे पर, दिमाग़ बुन रहा था सवाल हज़ार, सोचे अम्मा आज दिन कैसा जाएगा, दिये जो सारे बिक जाए कुछ पैसा घर आजाएगा । पहले ही करोना ने मुश्किल कर दिया था आधा साल, जैसे-तैसे चला रही थी अम्मा अपना कारोबार । कोई मैडमजी फ़रिश्ता बन आए, जो दिये ख़रीद ले जाए, रौशन कर अपने घर … Continue reading 🌟 जगमगाती दिवाली 🌟